10th के बाद क्या करें, दसवी के बाद करियर विकल्प

1
19

10th के बाद क्या करें, दसवी के बाद करियर विकल्प

अगर आप यह पोस्ट 10th के बाद क्या करें यह पढ़ रहे हैं इसका मतलब यह है कि आप या तो दसवीं की परीक्षा अगले साल देने वाले हैं या दे चुके हैं और उलझन में है की दसवीं के बाद कौन सी लाइन आपका करियर के लिए सही होगी।

अगर आपके मन में भी यह सवाल आ रहा है तो हम यहां पर आपको दसवीं के बाद कौन सी लाइन आपके करियर के लिए बेस्ट रहेगी इसकी पूरी जानकारी लेकर आए हैं। आपसे आशा है कि आप यह पोस्ट अंत तक जरूर पढ़ें।

यह आपके जीवन का सबसे महत्वपूर्ण डिसीजन होगा।

दसवीं के बाद क्या करें यह हमेशा से ही एक महत्वपूर्ण डिसीजन रहा है आपकी जीवन का एक मोड़ है जो आपका भविष्य तय करता है।

यह जीवन का एक ऐसा पड़ाव है जहां पर आप का एक डिसीजन आपके आने वाले जीवन की दिशा तय करता है।

आपने अपना जीवन का पहला पड़ाव पार कर लिया है अब आगे यह समझना है की दसवीं के बाद क्या करना चाहिए। हो सकता है कि आपके पास अभी पूरी जानकारी नहीं है या आप ऐसे विषय में अपना इंटरेस्ट रखते हैं जिसकी भविष्य में कोई इंपॉर्टेंस नहीं है।

इसीलिए यह महत्वपूर्ण पड़ाव दसवीं के बाद क्या करना चाहिए यह बहुत ही सोच समझ कर लेना चाहिए। इसके लिए हम यहां पर आपको बहुत सारे ऑप्शन और उसकी भविष्य में इंपॉर्टेंस बताएंगे। जिससे आपको यह तय करने में आसानी हो जाएगी कि आपको दसवीं के बाद क्या करना चाहिए।

एक एक समय था जब दसवीं के बाद क्या करना चाहिए यह सब जानने और समझने में आपको बहुत समय लग जाता था और इतने साधन और इंटरनेट सेवाएं भी उपलब्ध नहीं थी कि जिससे आपको सभी प्रकार के कोशिश की जानकारी मिल सके। परंतु अभी सब कुछ बदल चुका है। अब आप किसी भी कोर्स की जानकारी और आने वाले भविष्य में उसकी इंपॉर्टेंस आसानी से इंटरनेट पर चेक कर सकते हैं।

दसवीं पास होने वाले स्टूडेंट्स को सबसे ज्यादा दुविधा यह चुनाव करने में होती है कि वह करियर में आगे कौन सी लाइन चुने जिससे उसका करियर मैं काफी सारी जॉब ऑपरट्युनिटीज मिले।

दसवीं के बाद में आपको 3 मेंस्ट्रीम में से चुनाव करना होता है। जिसमें आर्ट्स, साइंस या फिर कॉमर्स। दसवीं के बाद अगर आप यह तीनों फील्ड में नहीं जाना चाहते हैं तो आप आईटीआई भी कर सकते हैं।

हम जानते हैं कि आपको भी यह दुविधा हो रही है कि आर्ट्स, साइंस या फिर कॉमर्स इसमें से कौन सी लाइन सबसे अच्छी है या बेहतर है और कौन सी स्क्रीन में ज्यादा स्कोर करने में आसानी होगी या फिर कौन सी स्ट्रीम में जॉब अपॉर्चुनिटी बहुत अच्छी है।

यह पोस्ट कौन तब जरूर पढ़ें अभी हम आपको बताएंगे कि यह तीनों स्ट्रीम में अब आगे जाकर क्या क्या कर सकते हैं और यह कैसे आपको अपना लक्ष्य साधने में मददगार होगी।

दसवीं के बाद कौन सा विषय ले

दसवीं के बाद हम सिर्फ तीन स्ट्रीम के बारे में जानते हैं आर्ट्स साइंस एंड कॉमर्स। परंतु उसके अलावा भी ऐसी बहुत सारी स्ट्रीम है जिसमें आप अपना कैरियर बना सकते हैं। तो आइए जानते हैं की दसवीं के बाद कौन से अच्छे कैरियर ऑप्शंस है।

दसवीं के बाद क्या करें।

वैसे तो दसवीं के बाद सिर्फ तीन मेजर स्ट्रीम्स है परंतु दसवीं के बाद इस को चार भागों में बांटा गया है जो कि इस प्रकार हैं।

  1. साइंस यानी विज्ञान
  2. आर्ट्स यानी कला और भाषाएं
  3. कॉमर्स ज्ञानी वाणिज्य या फिर बिजनेस
  4. आईटीआई यानी इंडिपेंडेंट कैरियर ऑप्शंस या फिर प्रोफेशनल कोर्सेज। & Politechnic Diploma

अब हम इन विषयों के बारे में और डिटेल में जानकारी प्राप्त करेंगे।

1. दसवीं के बाद साइंस किसे करना चाहिए

सभी माता-पिता ओं के लिए साइंस एक सबसे आकर्षक करियर ऑप्शन रहा है। साइंस स्ट्रीम ऐसे कई सारे अच्छे करियर ऑप्शंस प्रदान करती है जैसे कि इंजीनियरिंग मेडिकल आईटी कंप्यूटर साइंस रिसर्च साइंटिस्ट और ढेर सारी। साइंस स्ट्रीम लेने का और भी एक फायदा यह है कि आप आगे चलकर आर्ट्स या कॉमर्स फील्ड भी बदल सकते हो। इसका मतलब यह है कि अगर आपने पहले आर्ट्स या कॉमर्स लिया है तो फ्यूचर में कभी आप साइंस स्ट्रीम में वापस नहीं जा सकते हो। पर अगर आपने साइंस स्ट्रीम लिया है तो आप कभी भी वापस आर्ट्स या कॉमर्स ट्रेन में जा सकते हो।

जहां तक 11 और 12 वीं कक्षा की बात है आपको कुछ फंडामेंटल विज्ञान के सब्जेक्ट को पढ़ना पड़ता है जैसे कि फिजिक्स, बायलॉजी, मैट्रिक्स और कुछ सिलेक्टिव सब्जेक्ट जैसे कि कंप्यूटर साइंस आईटी एंड इलेक्ट्रॉनिक्स। इसके साथ ही आपको एक कंपलसरी भाषा का विषय भी चुनना पड़ता है जैसे कि हिंदी, इंग्लिश या फिर आप की मातृभाषा।

11वीं और 12वीं कक्षा में इन सभी विषयों का क्लासरूम ट्रेनिंग एंड प्रैक्टिकल ट्रेनिंग दोनों करनी पड़ती है। अगर आपकी रुचि इंजीनियरिंग में है तो आप पीसीएम सब्जेक्ट यानी कि फिजिक्स केमिस्ट्री और मैथमेटिक्स कोर्स सब्जेक्ट की तरह ले सकते हैं। इसका मतलब यह है कि इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स को बायोलॉजी पढ़ने की जरूरत नहीं है।

उसी तरह अगर आप आगे चलकर मेडिकल फील्ड में जाना चाहते हो तो आपको पीसीएमबी यानी कि फिजिक्स केमेस्ट्री मैथमेटिक्स और बायोलॉजी का चयन करना चाहिए। मेडिकल स्टूडेंट्स के लिए मैथमेटिक्स का सब्जेक्ट ऑप्शनल है। कई सारी स्कूलों में मेडिकल करियर वाले स्टूडेंट्स को मैथमेटिक्स नहीं पढ़ाया जाता।

साइंस स्ट्रीम की रुचि रखने वाले सभी विद्यार्थियों को यह जान लेना चाहिए कि इसमें बहुत मेहनत करनी पड़ती है आपको अपना टाइम शेडूल बहुत ही पक्का करना पड़ता है और कम से कम दिन में 10 घंटा ट्यूशन 6 घंटा स्कूल इन तीन से चार घंटा पढ़ाई करनी पड़ती है।साइंस में स्कोर करने के लिए आपको कम से कम दिन में 17 से 18 घंटे पढ़ाई करनी पड़ती है।

साइंस में स्कोर किए हुए स्टूडेंट्स को अच्छी कॉलेज में दाखिला हो सकता है और उससे आपको अच्छी जॉब अपॉर्चुनिटी भी मिल सकती है।

उदाहरण के तौर पर, अगर आप 12वीं कक्षा में साइंस में इंजीनियरिंग फील्ड सिलेक्ट किए हैं और अपने अच्छा स्कोर्स से ट्वेल्थ की एग्जाम पास की है तो आप का मेरिट लिस्ट के हिसाब से आपको कोई अच्छी कॉलेज जिसका रेटिंग अच्छा है उसमें दाखिला मिलेगा। इंजीनियरिंग पास करने के बाद अच्छी कॉलेज में बहुत सारी कंपनी आज आती है जो वहां के स्टूडेंट्स को हायर करती है और अच्छी सैलरी पर जॉब देती है। इसका मतलब यह होता है कि अगर आपने अच्छा स्कोर 12वीं में कर लिया तो आपको जॉब ढूंढने में कोई दिक्कत नहीं आती है और इजी ली बहुत सारी कंपनियां आपको एप्रोच करके आपको जॉब सामने से प्रदान करती है।

अगर आप में मेहनत करने का जुनून है और साइंस फील्ड में इंटरेस्ट है तो आप साइंस स्ट्रीम दसवीं के बाद में लेकर अपना करियर बना सकते हो।

साइंस स्ट्रीम में कौन-कौन से सब्जेक्ट होते हैं?

साइंस स्ट्रीम में जैसे कि मैंने ऊपर बताया मुख्यतः फिजिक्स गणित यानी मैथमेटिक्स रसायन विज्ञान यानी केमिस्ट्री बायोलॉजी यह मुख्य सब्जेक्ट है। और कंप्यूटर साइंस यानी आईटी, बायो टेक्नोलॉजी और एक्स इलेक्टिव सब्जेक्ट का ऑप्शंस है जो कि आपको लेना पड़ता है। कुल मिलाकर 7 सब्जेक्ट होते हैं।

साइंस स्ट्रीम में कैरियर ऑप्शंस क्या क्या है?

साइंस स्ट्रीम में मुख्यतः 3 ऑप्शंस है।

१. पहला ऑप्शन सर कि आप 12वीं के बाद बैचलर ऑफ साइंस यानी कि बीएससी में कोई एक स्पेसिफिक सब्जेक्ट पर बैचलर डिग्री कर सकते हैं जिसमें केमेस्ट्री मैथमेटिक्स वगैरह सब्जेक्ट आते हैं। बैचलर ऑफ साइंस की डिग्री करने के बाद आपके पास में मास्टर ऑफ साइंस भी कर सकते हैं और उसके बाद में पीएचडी यानी कि डॉक्टरेट की डिग्री भी ले सकते हैं।

इसमें आप कॉलेज के प्रोफेसर बन सकते हो कोई कंपनी इसमें अब जॉब कर सकते हो या फिर आप अपना पर्सनल ट्यूशन कोचिंग भी चला सकते हो।

२. दूसरा ऑप्शन है इंजीनियरिंग। इंजीनियरिंग में पैसे तो बहुत सारे ऑप्शंस मिल जाते हैं जैसे कि एयरोस्पेस इंजीनियरिंग केमिकल इंजीनियरिंग मैकेनिकल इंजीनियरिंग इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, पर यह आपको डिसाइड करना होगा कि आपको किस फील्ड में ज्यादा इंटरेस्ट है।

12वीं के बाद में इंजीनियरिंग की सभी फिल्मों के नाम इस तरह से हैं

एयरोस्पेस इंजीनियरिंग

केमिकल इंजीनियरिंग

सिविल इंजीनियरिंग

कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग

इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग

इंजीनियरिंग मैनेजमेंट

इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग

न्यूक्लियर इंजीनियरिंग

इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग

इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग

मैकेनिकल इंजीनियरिंग

जियोटेक्निकल इंजीनियरिंग

प्रोडक्शन इंजीनियरिंग

मिलिट्री इंजीनियरिंग

और भी ढेर सारे हैं

दसवीं के बाद साइंस स्ट्रीम लेने के फायदे

अपने समाज में हमेशा से ही साइंस स्ट्रीम के स्टूडेंट्स को ज्यादा इज्जत मिलती है क्योंकि वह आगे चलकर इंजीनियर या फिर डॉक्टर बनते हैं। अगर वह इंजीनियर और डॉक्टर के अलावा दूसरी भी फील्ड पसंद करते हैं तो भी उसको अच्छा खासा सैलरी पैकेज मिलता है और उसकी लाइफ सेट मानी जाती है

साइंस स्ट्रीम लेने का एक बड़ा फायदा यह है कि आप आगे चलकर गवर्नमेंट जॉब्स में अप्लाई कर सकते हो और गवर्नमेंट जॉब्स पा सकते हो जैसे कि सिविल सर्विसेज आईएएस आईपीएस ऑफिसर, इंजीनियरिंग सर्विसेज।

साइंस स्ट्रीम का मुख्यतः फायदा यह होता है कि इसमें आपको जितनी ज्यादा मेहनत लगती है उतना ही ज्यादा आपका स्किल्स लेवल आपका नॉलेज लेवल बढ़ता है और उसी हिसाब से आपको भविष्य में सैलरी पैकेज भी मिलता है।

2. दसवीं के बाद कॉमर्स किसको करना चाहिए

कैरियर की पसंद के रूप में कॉमर्स स्ट्रीम दसवीं के बाद में दूसरी सबसे ज्यादा चुनी जाने वाली स्ट्रीम है। यदि आप संख्या, पैसा, और अर्थशास्त्र में रुचि रखते हैं तो कॉमर्स रिंग आपके लिए उपयुक्त ऑप्शंस है और आपको यह विकल्प पसंद करना चाहिए। दसवीं के बाद कॉमर्स रखने वाले स्टूडेंट्स को भविष्य में बहुत उच्च वेतन देने वाली नौकरियों को पाने का अवसर भी प्रदान होता है जैसे कि चार्टर्ड अकाउंटेंट कंपनी सेक्रेटरी अकाउंटेंट इन्वेस्टर्स, बैंकिंग ऑफिसर, फाइनेंसियल सलाहकार और कई सारे।

दसवीं के बाद कॉमर्स में कौन-कौन से सब्जेक्ट आते हैं

कॉमर्स स्ट्रीम में दसवीं के बाद में नीचे दिए गए सब्जेक्ट्स का अध्ययन करना पड़ता है।

इकोनॉमिक्स

अकाउंट्स

बिजनेस स्टडीज

गणित यानी नंबर्स

स्टैटिसटिक्स

इंफॉर्मेशन प्रैक्टिस इस

इंग्लिश

कॉमर्स में आगे चलकर कौन-कौन से करियर ऑप्शंस मिलते हैं

ई-कॉमर्स छात्र के रूप में आपके पास में कई मुख्य विषयों के रूप में बिजनेस इकोनॉमिक्स अकाउंटेंसी बिजनेस स्टडीज और बिजनेस लो होगा जो कि आपको भविष्य में कई सारी जॉब अपॉर्चुनिटी देगा। इसके अलावा आपको वाणी जिस चीज में लेखांकन लेखा परीक्षा आयकर विपणन सामान्य व्यवसाय अर्थशास्त्र में भी प्रशिक्षण प्राप्त होगा। साइंस स्ट्रीम की तरह ही कॉमर्स स्ट्रीम में भी एक अनिवार्य भाषा का चयन करना पड़ता है।

कॉमर्स स्ट्रीम में आगे चलकर आप कॉमर्स में बैचलर्स एंड मास्टर्स डिग्री भी प्राप्त कर सकते हैं जो कि आपको आगे चलकर टीचिंग प्रोफेशन में या बैंकिंग सेक्टर में या प्राइवेट और गवर्नमेंट सेक्टर में जॉब अपॉर्चुनिटी प्रदान करती है। इसमें एक सबसे अच्छा ऑप्शंस चार्टर्ड अकाउंटेंट्स का भी है जिसमें कई सारे कॉमर्स स्टूडेंट्स आगे चलकर चार्टर्ड अकाउंटेंट का ऑप्शन चुनकर सीए बनते हैं और अच्छी जॉब पाते हैं।

तो आपने देखा साइंस स्ट्रीम की तरह ही कॉमर्स स्ट्रीम में भी बहुत सारे अच्छे करियर ऑप्शंस मिल जाते हैं। जिसमें से कुछ नीचे दिए गए हैं

एंटरप्रेन्योरशिप – आप कोई धंधा चालू कर सकते हैं

चार्टर्ड अकाउंटेंट

फॉरेंसिक अकाउंटेंसी

अकाउंटेंट और क्लर्क जॉब

बैंकिंग

इंश्योरेंस

लो

मार्केट रिसर्च

शेयर मार्केट

इन्वेस्टमेंट गाइड

कंपनी सेक्रेटरीशिप

एडमिनिस्ट्रेशन

मैनेजमेंट जॉब्स

मीडिया

म्यूचल फंड एजेंसी

अकाउंटेंसी

टीचिंग प्रोफेसर

और कई सारे

3. दसवीं के बाद आर्ट्स किसको करना चाहिये

मानसाय जिसको सबसे ज्यादा आठ शील्ड भी कहा जाता है यह दसवीं के बाद में सबसे कम चुना जाने वाला कोर्स है। पर अभी के समय में यह मेंटालिटी चेंज हो रही है। काफी सारे स्टूडेंट्स दसवीं के बाद में आर्ट्स स्ट्रीम भी ले रहे हैं। आज के दिन में आर्ट्स स्ट्रीम सबसे ज्यादा पढ़ाई के ऑप्शंस देने वाली स्ट्रीम्स की तरह उभर रही हैं।

यह माना जाता है कि 8 स्ट्रीम्स सिर्फ वही स्टूडेंट्स के लिए है चो एकेडमिक रिसर्च, कला या फिर कोई भाषा में अपनी मास्टरी करना चाहते हैं। परंतु यह परसेप्शन पिछले 10 सालों में बहुत ही बदल गया है। आज 5 स्टूडेंट्स भी न्यू फील्ड में अच्छा कैरियर ऑप्शन पसंद करके साइंस और कॉमर्स स्टूडेंट्स की फरोड़ में आ गए हैं। आर्ट्स स्ट्रीम में भी आपको कई सारे ऑप्शन मिल जाते हैं

दसवीं के बाद आर्ट्स में कौन-कौन से सब्जेक्ट आते हैं।

जहां तक विषयों की बात है, आर्ट्स के स्टूडेंट के पास बहुत सारे विषयों को पसंद करने का मौका मिलता है जैसे कि सोशियोलॉजी, हिस्ट्री, लिटरेचर, साइकोलॉजी, पॉलिटिक्स, पॉलिटिकल साइंस, फिलोसोफी, इकोनॉमिक्स। आर्ट्स के स्टूडेंट को एक कंपलसरी भाषा का सब्जेक्ट लेना पड़ता है और उसके साथ में एक ऑप्शनल भाषा का विषय को पसंद कर सकते हैं।

दसवीं के बाद आर्ट्स लेने का एक अच्छा फायदा यह भी है की इसमें साइंस स्ट्रीम की तरह मेहनत कम लगती है।

आर्ट स्ट्रीम में आगे चलकर कौन-कौन से करियर ऑप्शंस हैं

दसवीं के बाद जो स्टूडेंट्स हॉट स्ट्रीम्स लेते हैं और आगे चलकर 12वीं की परीक्षा पास करके उसको कई सारे करियर ऑप्शंस मिल जाते हैं। जिसमें कुछ पॉपुलर ऑप्शंस नीचे लिखे हुए हैं।

आर्कोलॉजी

एंथ्रोपोलॉजी

सिविल सर्विसेज

लाइब्रेरी मैनेजमेंट

हेरिटेज मैनेजमेंट

साइकोलॉजी

सोशियोलॉजी

सोशल सर्विसेज

हिस्टोरियन

टीचिंग और प्रोफेसर

मास कम्युनिकेशन और मीडिया

फिलोसोफी

पॉलिटिक्स

आर्ट्स

ट्रेवल एंड टूरिज्म

फैशन डिजाइनिंग

राइटर

हॉस्पिटैलिटी

और कई सारे

दसवीं के बाद आर्ट्स लेने के फायदे

वैसे देखा जाए तो दसवीं के बाद आर्ट्स लेने के बहुत सारे फायदे हैं जिसमें आपके पास बहुत सारे करियर ऑप्शन स्कूल जाते हैं जो कि आपको साइंस या कॉमर्स स्ट्रीम में देखने को नहीं मिलते हैं।

बहुत लोग ऐसा सोचते हैं कि जिनके दसवीं में कम मार्क्स आते हैं वही 8 स्क्रीन पसंद करते हैं लेकिन आज के दिन में ऐसा नहीं रहा है। बहुत से स्टूडेंट्स दसवीं में अच्छे स्कूल करने के बावजूद आर्ट्स स्ट्रीम पसंद करते हैं क्योंकि इसमें बहुत सारे करियर ऑप्शंस मिल जाते हैं जो कि दूसरी स्ट्रीम्स में नहीं मिलते हैं।

दूसरा सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसमें साइंस और कॉमर्स फील्ड की तरह बहुत कठिन विषयों का अध्ययन नहीं करना पड़ता है। हालांकि इसमें जॉब अपॉर्चुनिटी काफी रहती है परंतु सैलरी पैकेज उतना नहीं मिल पाता है जितना साइंस स्ट्रीम में और कॉमर्स स्ट्रीम के स्टूडेंट शो को मिलता है।

४. दसवीं के बाद प्रोफेशनल कोर्सेज & Politechnic Diploma किसको करने चाहिए

दसवीं के बाद साइंस कॉमर्स और आर्ट्स मुख्यतः स्ट्रीम्स है जिसमें 90% से ज्यादा स्टूडेंट्स जाना पसंद करते हैं। परंतु आईटीआई यानी प्रोफेशनल कोर्सेज एक चौथा ऑप्शंस बनके आज के दिन में उभर रहा है जिसमें आप कोई स्पेसिफिक लाइन में कोशिश करके आसानी से करियर ऑप्शंस बना सकते हैं।

दसवीं के बाद आईटीआई करने के लिए गवर्नमेंट की तरफ से आईटीआई के फॉर्म निकलते हैं जो आपको पढ़ने होते हैं और उसमें स्पेसिफिक सेलेक्ट करनी होती है जो करके आप उसमें एडमिशन ले सकते हैं।

आईटीआई में पास आउट होने के बाद में अच्छा जॉब अपॉर्चुनिटी मिल जाती हैं। प्रोफेशनल कोर्सेज करने के बाद आप अपना खुद का बिजनेस भी चालू कर सकते हैं

वोकेशनल स्ट्रीम के कोर्स इसमें इंटीरियर डिजाइन फायर एंड सेफ्टी साइबर लॉ ज्वेलरी डिजाइनिंग फैशन डिजाइनिंग लॉस स्पोर्ट्स मास कम्युनिकेशन शामिल होता है।

दसवीं के बाद में अगर आप आईटीआई में जाना नहीं चाहते हैं तो आप पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स भी कर सकते हैं जो आगे चलकर आपको इंजीनियरिंग डिग्री प्राप्त कर सकता है जिसमें आपको 11वीं और 12वीं की परीक्षा देने की जरूरत नहीं होती।

पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स स्टूडेंट्स के लिए एक अच्छा ऑप्शन है जो इंजीनियरिंग में जाना चाहते हैं परंतु 10वीं और 12वीं की कक्षा में नहीं।

दसवीं के बाद आप पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स में एडमिशन लेने के बाद में आपको डायरेक्ट कॉलेज में एडमिशन दिया जाता है जिससे आपको डिप्लोमा सर्टिफिकेट प्राप्त होता है। डिप्लोमा करने के बाद में आपके पास और एक ऑप्शन खुल जाता है जिसमें आप डायरेक्ट डिग्री इंजीनियरिंग कॉलेज के सेकंड ईयर में प्रवेश पा सकते हो जो आपको आगे चलकर डिग्री इंजीनियरिंग सर्टिफिकेट दे सकता है।

डिग्री इंजीनियरिंग की तरह डिप्लोमा इंजीनियरिंग में भी वही सारे सब्जेक्ट होते हैं

10th के बाद डिप्लोमा में कौन-कौन से कोर्स होते हैं

10th के बाद डिप्लोमा में कई सारे कोर्स ऑप्शंस मिल जाते हैं उसका विवरण नीचे दिया गया है।

फाइन आर्ट्स डिप्लोमा इंजीनियरिंग

केमिकल डिप्लोमा इंजीनियरिंग

मेकेनिकल डिप्लोमा इंजीनियरिंग

कंप्यूटर डिप्लोमा इंजीनियरिंग

सॉफ्टवेयर डिप्लोमा इंजीनियरिंग

इलेक्ट्रिकल एंड कम्युनिकेशन डिप्लोमा इंजीनियरिंग

एयरोनॉटिकल डिप्लोमा इंजीनियरिंग

सिविल डिप्लोमा इंजीनियरिंग

पेट्रोलियम डिप्लोमा इंजीनियरिंग

बायो टेक्नोलॉजी डिप्लोमा इंजीनियरिंग

ऑटोमोबाइल डिप्लोमा इंजीनियरिंग

फैशन डिजाइनिंग इन डिप्लोमा

मेडिकल लैब इन डिप्लोमा

ब्यूटी कल्चर इन डिप्लोमा

प्रोडक्शन इंजीनियरिंग इन डिप्लोमा

प्रिंटिंग एंड लेदर टेक्नोलॉजी डिप्लोमा

कंप्यूटर साइंस इन डिप्लोमा

और कई सारे

आज हमने क्या सीखा।

आज हमने डिटेल में यह देखा कि दसवीं के बाद में कितने सारे ऑप्शंस मिल जाते हैं और उसमें आगे चलकर क्या क्या करियर ऑप्शंस का चुनाव करेंगे तो आपको क्या-क्या अपॉर्चुनिटी मिलेगी। इस लेख का उद्देश्य यही है कि दसवीं के बाद में आप को कोई भी स्क्रीन पसंद करने में आसानी हो।

मैं आशा करता हूं कि आपको मेरा यह आर्टिकल 10th के बाद क्या करें जरूर पसंद आया होगा। मेरी हमेशा से ही यही कोशिश रहती है कि मैं कोई सब्जेक्ट पर जितनी हो सके ज्यादा डिटेल में एनालिसिस करके उसका आर्टिकल बनाकर आपको उसकी सबसे डिटेल मैं और ताजा जानकारी दे सकूं। जिससे कि आपको कोई भी टॉपिक पर सारी जानकारी एक ही जगह से मिल जाए। इससे आपका बहुत सारा समय भी बन जाता है।

आपको अगर यह आर्टिकल के बाद में कोई भी शिकायत या फिर कोई सालह सूचन है तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में अपने समस्या लिख सकते हैं। मैं 24 घंटे के अंदर उसका रिप्लाई देने की कोशिश करूंगा।

अगर आपको यह आर्टिकल 10th के बाद कौन सा कोर्स करें हिंदी में पसंद आया, तो कृपया इस पोस्ट को आप अपने फेसबुक ट्विटर या व्हाट्सएप ग्रुप में शेयर कीजिए।

ऐसी ही नई रोचक जानकारी प्राप्त करने के लिए आप हमें सोशल नेटवर्किंग साइट पर फॉलो कर सकते हैं और हमारे मेलबॉक्स को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

Next articleTamilRockers 2020 New Link – How to Download Tamil, Telugu, Malyalam Movies Free
नमस्कार साथियो, मैं माहि पटेल, HindiAlert.in (हिंदी ब्लॉग अलर्ट ) की लेखक और सहायक निर्माता हूँ। में एक मास्टर ग्रेजुएट हु इंजीनियरिंग में और एक कॉलेज में अध्यापिका हु. मेरी हमेशा से ही नयी नयी चीजे पढ़ने में और सिखाने में रूचि रही हे। हिंदी ब्लॉग पर में नयी नयी जानकारी साजा करती रहती हु. आपसे अनुरोध हे की मुझसे जुड़े रहे और आपका सहयोग देते रहे.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here